filmy4wap

No.1 Text shayari wapsite

समेट कर ले जाओ.. अपने �ूठे वादों के अधूरे क़िस�से.. अगली मोहब�बत में त�म�हें फिर.. इनकी ज़रूरत पड़ेगी


✒Text Shayari✒

Post On 01 june 2019






किसी की यादो को रोक पाना मुश्किल है रोते हुए दिल को मनाना मुश्किल है ये दिल अपनो को कितना याद करता है ये कुछ लफ्जो में बयाँ कर पाना मुश्किल है
Kisi ki yaado ko rok paana muskil hai, Rote huye dil ko manana muskil hai, Ye dil apno ko kitna yaad karta hai, Ye kuch kafzo mein baya kar paana muskil hai

बदलना आता नहीं हमे मौसम की तरह, हर इक रुत में तेरा इंतज़ार करते हैं, ना तुम समझ सकोगे जिसे क़यामत तक, कसम तुम्हारी तुम्हे हम इतना प्यार करते हैं|
Badalna nahi aata humein mausam ki tarah, Har ek rut mein teraintezaar karte hain.. Na tum samjh sako jise qayaamat tak, Kasam tumhrei tumhe itna pyaar karte hain
मेरी रूह में न समाती तो भूल जाता तुम्हे, तुम इतना पास न आती तो भूल जाता तुम्हे, यह कहते हुए मेरा ताल्लुक नहीं तुमसे कोई, आँखों में आंसू न आते तो भूल जाता तुम्हे|
Meri Rooh mein na samatey to bhool jaate tujhe, Tum itna pass na aate to bhool jaate tujhe, Ye kehte hue mera tum se koi talauq nahi, Ankhon mein Ansoo na aate to bhool jaate tujhe.
प्यार किया बदनाम हो गए, चर्चे हमारे सरेआम हो गए, ज़ालिम ने दिल उस वक़्त तोडा, जब हम उसके गुलाम हो गए|
Pyar Kiya To Badnaam HoGaye, Charche Hamare Sar E AamHo Gaye, Zaalim Ne Dil Bhi Usi WaqtToda, Jab Hum Uske Pyar K GulamHo Gaye.
प्यार किया बदनाम हो गए, चर्चे हमारे सरेआम हो गए, ज़ालिम ने दिल उस वक़्त तोडा, जब हम उसके गुलाम हो गए|
Pyar Kiya To Badnaam HoGaye, Charche Hamare Sar E AamHo Gaye, Zaalim Ne Dil Bhi Usi WaqtToda,
रात की गहराई आँखों में उतर आई, कुछ ख्वाब थे और कुछ मेरी तन्हाई, ये जो पलकों से बह रहे हैं हल्के हल्के, कुछ तो मजबूरी थी कुछ तेरी बेवफाई|

Bewafa To Woh Khud Thi.. Par Ilzaam Kisi Aur Ko Deti Hai.. Pehle Naam Tha Mera Uske Hothon Par.. Ab Woh Naam Kisi Aur Ka Leti Hai.. Kabhi Leti Thi Wada Mujhse Saath Na Chorne Ka.. Ab Yehi Wada Kisi Aur Se Leti Hai.
Post On 1 june2019






समेट कर ले जाओ.. अपने झूठे वादों के अधूरे क़िस्से.. अगली मोहब्बत में तुम्हें फिर.. इनकी ज़रूरत पड़ेगी। Samet Kar Le Jao.. Apne Jhoothe Waadon Ke Adhure Kisse.. Agli Mohabbat Me Tumhein Phir.. Inki Zarurat Padegi..

हर किसी को खुश करना, शायद हमारे बस मैं न हो, लेकिन किसी को हमारी वजह से दुःख न पहुंचे यह तोह, हमारे बस मैं है ||
तू तो हँस हँसकर जी रही है, जुदा होकर भी.. कैसे जी पाया होगा वो, जिसने तेरे सिवा जिन्दगी कभी सोची ही नहीं.., इंतज़ार करते है ||
जिस शाम बरसते है तेरी याद के बादल, उस वक्त कोई भी हिजर का तारा नहीं होता || यु ही मेरे पहलु मैं चले आते हैं अक्सर, वो दर्द जिन्हे मैने कभी पुकारा नहीं होता ||
Lage he ilzaam dil pe jo mujh ko rulate hai, Kisi ki berukhi aur kisi aur ko satate he, Dil tod ke mera wo badi asani se keh gaye alvida, Lekin halaat mujhe bewafa thehraate hai.
हमसे खेलती रही दुनिया, ताश के पतों की तरह || जो जीता उसने भी फेंका , जो हारा उसने भी फेंका ||
Thanks For Reading

Releted Shayari

Tag: Shayari समेट कर ले जाओ.. अपने �ूठे वादों के अधूरे क़िस�से.. अगली मोहब�बत में त�म�हें फिर.. इनकी ज़रूरत पड़ेगी sed shayari, समेट कर ले जाओ.. अपने �ूठे वादों के अधूरे क़िस�से.. अगली मोहब�बत में त�म�हें फिर.. इनकी ज़रूरत पड़ेगी text shayari , समेट कर ले जाओ.. अपने �ूठे वादों के अधूरे क़िस�से.. अगली मोहब�बत में त�म�हें फिर.. इनकी ज़रूरत पड़ेगी new shayari , समेट कर ले जाओ.. अपने �ूठे वादों के अधूरे क़िस�से.. अगली मोहब�बत में त�म�हें फिर.. इनकी ज़रूरत पड़ेगी best shayri , समेट कर ले जाओ.. अपने �ूठे वादों के अधूरे क़िस�से.. अगली मोहब�बत में त�म�हें फिर.. इनकी ज़रूरत पड़ेगी shayari , समेट कर ले जाओ.. अपने �ूठे वादों के अधूरे क़िस�से.. अगली मोहब�बत में त�म�हें फिर.. इनकी ज़रूरत पड़ेगी text| love | sed | filmywap

Template By: filmy4wap

Disclaimer | Contact/Request Movie